Prerak Prasang

अच्छे बुरे पर गुरू नानक देव का प्रेरक प्रसंग | Guru Nanak Dev Prerak Prasang On Good Or Bad

इस पोस्ट में हम अच्छे बुरे पर गुरू नानक देव का प्रेरक प्रसंग (Guru Nanak Dev Prerak Prasang On Good Or Bad In Hindi) शेयर कर रहे हैं। Achchhe Bure Par Kabir Das Ka Prerak Prasang हमें जीवन देने वाले परमात्मा को स्मरण करने के बारे में है।

Guru Nanak Dev Prerak Prasang On Good Or Bad

Guru Nanak Dev Prerak Prasang On God Or Bad

Guru Nanak Dev Prerak Prasang On God Or Bad

गुरू नानक देव एक गांव में प्रवचन देने गए। प्रवचन के बाद एक व्यक्ति ने उनसे पूछा – “गुरुदेव! हिंदू अच्छे हैं या मुसलमान?”

गुरू नानक देव ने उत्तर दिया –

अव्वल अल्लाह नूर उपाया, कुदरत दे सब बंदे।

एक नूर ते सब जग उपज्या, कौन भले कौन मंदे।।

अर्थात एक ही ईश्वर है, जिसने सृष्टि की रचना की है। हम सब उस एक ईश्वर की संतान हैं। ऐसे में मैं किसे भला कहूं, किसे बुरा!

गुरु नानक देव का मानना था कि ईश्वर की दृष्टि में वही मनुष्य भला है, जिसका आचरण सच्चा और नेक है। 

आशा है, आपको Achchhe Bure Par Guru Nanak Dev Ka Prerak Prasang पसंद आई होगी.  आप Guru Nanak Dev Prerak Prasang In Hindi  को like करें और अपने मित्रों को share करें। ऐसी ही अन्य  Prerak Prasang In Hindi के लिए कृपया हमें subscribe करना ना भूलें।

Note: इस वेबसाइट में लिखे समस्त आर्टिकल्स का copyright वेबसाइट admin के पास है। कृपया बिना अनुमति किसी भी डिजिटल या प्रिंट मीडिया में इस्तेमाल न करें। अन्यथा कार्यवाही की जावेगी, जिसके लिए आप स्वयं जिम्मेदार होंगे।

ये कहानियां भी पढ़ें : 

परमात्मा पर संत कबीर दास का प्रेरक प्रसंग 

मां का कर्ज़ मां बेटे की कहानी

Leave a Comment